कारदेखो को मिली 70 मिलियन डॉलर की फंडिंग, चीन और यूरोप के निवेशकों ने किया कंपनी में निवेश

उदयपुर। देश की अग्रणी ऑटो टेक कंपनी कारदेखो को सीरीज डी राउंड में 70 मिलियन डॉलर की फंडिंग मिली है। कंपनी ने यह फंडिंग पिंग एन ग्लोबल वॉयज़र फंड, सनले हाउस कैपिटल मैनेजमेंट, सिकोइया इंडिया और हिलहाउस से प्राप्त की है। इनमें पिंग एन ग्लोबल वॉयज़र फंड और सनले हाउस कैपिटल मैनेजमेंट कंपनी के नए इंवेस्टर हैं, जबकि सिकोइया इंडिया और हिलहाउस पहले भी कारदेखो में निवेश कर चुके हैं। पिंग एन ने कारदेखो के जरिये भारत में अपना पहला इंवेस्टमेंट किया है। सनले हाउस कैपिटल मैनेजमेंट, ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी फर्म एडवेंट इंटरनेशनल की सहायक कंपनी है। सिकोइया इंडिया और हिलहाउस का कंपनी में पहले से निवेश जारी है, कंपनी की अच्छी परफॉर्मेंस को देखते हुए इन्होंने फिर से कारदेखो में निवेश किया है। कारदेखो को अब तक 250 मिलियन डॉलर से ज्यादा की फंडिंग मिल चुकी है। 

इस फंड का इस्तेमाल कारदेखो के ट्रांजेक्शन बिजनेस और इंटरनेशनल मार्केट में कंपनी की पहुंच बढ़ाने के लिए किया जाएगा। कंपनी ने हाल ही में दक्षिण-पूर्वी एशिया के दूसरे देश फिलिपिंस में अपना ऑपरेशन शुरू किया है। फिलिपिंस में कंपनी ने वहां के नए अग्रणी ऑटो पोर्टल कारमुडी का अधिग्रहण किया है। इससे पहले कारदेखो ने 2016 में ओटो नाम का ब्रांड शुरू करते हुए इंडोनेशिया के बाजार में कदम रखा था, जो आज इंडोनेशिया का नंबर-1 ऑटो पोर्टल बन गया है।

कारदेखो ने भारत के ऑटो ईकोसिस्टम को सफलतापूर्वक डिजिटल कर दिया है और ग्राहकों को कार खरीदने व बेचने की हर प्रक्रिया में मदद करने वाले अपने उद्देश्य पर लगातार काम कर रही है। देश के सभी कार और मोटरसाइकिल मैन्यूफैक्चर कारदेखो से जुड़े हुए हैं और कुछ कंपनियों की 15 से 30 फीसदी वार्षिक बिक्री कारदेखो के जरिये होती है। कारदेखो देश के 4,000 से ज्यादा न्यू ऑटो डीलरशिप और 3,000 से ज्यादा यूज्ड कार डीलरशिप के साथ मिलकर काम कर रही है और कंपनी की रिटेल काउंटर सेल 42 फीसदी से ज्यादा है। इसके अलावा कंपनी पुरानी कार खरीदने और बेचने वाले लोगों को फाइनेंस और इंश्योरेंस की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 10 फाइनेंशियल इंस्टिट्यूशन और 18 इंश्योरेंस कंपनी के साथ मिलकर भी काम कर रही है। कंपनी ने हाल ही में वित्तीय वर्ष 2019-20 की पहली छमाही के परिणाम जारी किए हैं। इस दौरान कंपनी का रेवेन्यू 92 प्रतिशत की सालाना ग्रोथ से बढ़ा है। ऐसे में इस वित्तीय वर्ष की पहली छमाही में कंपनी का रेवेन्यू 28 मिलियन डॉलर हो गया है। भारत के कार बाजार में छाई मंदी के बावजूद कंपनी ने न्यू ऑटो बिजनेस सेगमेंट में 30 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज की है। कंपनी का इंश्योरेंस और वारंटी बिजनेस 525%, यूज्ड कार बिजनेस 120% और फाइनेंशियल सर्विस बिजनेस 135% तक बढ़ा है। 

कारदेखो के सीईओ और को-फाउंडर अमित जैन ने कहा कि “हम देश की अग्रणी फुल स्टैक ऑटोटेक कंपनी होने के नाते ग्राहकों को कार खरीदने और बेचने की पूरी प्रक्रिया में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारा अनूठा ऑटोमोबाइल ईकोसिस्टम हमें ग्राहकों को अच्छी वैल्यू उपलब्ध कराने साथ उन्हें एक ही प्लेटफॉर्म पर विभिन्न ट्रांजेक्शनल मॉडल से जोड़े रखता है। हम इस फंड से अपने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय व्यवसायों को मजबूत करना जारी रखेंगे और आक्रामक तरीके से देश में सबसे बड़ी पर्सनल मोबिलिटी ईकोसिस्टम बनने की दिशा में काम करेंगे।”

पिंग एन ग्लोबल वॉयज़र फंड के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीओओ डोनाल्ड लेसी ने कहा कि “पिंग एन ग्रुप का ऑटो सर्विस बिज़नेस हमारी फाइनेंशियल के साथ-साथ ईकोसिस्टम की रणनीति का एक अहम हिस्सा है, जो चीन के प्रमुख ऑटोमोटिव पोर्टल ऑटोहोम में हमारे अधिकांश शेयरधारिता को दर्शाता है। कारदेखो ने भारत में विशेष रूप से कार खरीदारों की जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न प्रकार की फाइनेंशियल सर्विसेज़ की पेशकशों को विकसित करने में जो सफलता हासिल की है, उससे हम बेहद प्रभावित हुए हैं।

सनले हाउस कैपिटल मैनेजमेंट के मैनेजिंग डायरेक्टर मोहम्मद अंजारवाला ने कहा कि “कारदेखो भारत में कार खरीदने के ईकोसिस्टम का एक प्रमुख केंद्र है, जो देशभर में ऑटो ब्रांड, डीलर्स और कंज्यूमर्स को अपने विभिन्न पोर्टलों से जोड़ती है।” उन्होंने आगे कहा कि “भारत में डिजिटल प्लेटफॉर्म पर एडवरटाइजिंग तेजी से बढ़ रही है, ऐसे में हमारा मानना है कि ऑटो इंडस्ट्री के डिजिटल विज्ञापन के जरिये कंपनी मजबूत ग्रोथ के लिए तैयार है। हम कारदेखो को अच्छी ग्रोथ हासिल करने में मदद करने के लिए तत्पर हैं। हम कारदेखो को हमारे ग्लोबल नेटवर्क तक पहुंच बढ़ाने में मदद करने के साथ अपने अनुभव भी बांटेंगे।”सिकोइया कैपिटल इंडिया एडवाइज़र्स के मैनेजिंग डायरेक्टर शैलेश लखानी ने कहा कि “कारदेखो, यूज़्ड और न्यू ऑटो सेगमेंट के लिए बनाए गए अपने ईकोसिस्टम में एक बेहतर तरीके से सोची समझी रणनीति के तहत काम करती है। सिकोइया इंडिया इस साझेदारी के लिए पिंग एन और सनले हाउस का स्वागत करती है और हम भारतीय ग्राहकों को कार खरीदने और बेचने की पूरी प्रक्रिया में मदद करने के लिए कारदेखो टीम के प्रति अपने समर्थन और प्रतिबद्धता के लिए उत्साहित हैं। रेनमेकर ग्रुप ने कंपनी के एकमात्र वित्तीय सलाहकार के रूप में काम किया है। 

Related posts:

नगर निगम ने पेरेंट्स प्लस परियोजना के अंतर्गत शाला पूर्व शिक्षण सामग्री (पीएसई-किट) कार्यशाला का आयो...
आईडीबीआई बैंक ने भेंट की नारायण सेवा संस्थान को ऐनेस्थीसिया मशीन
ZINC FOOTBALL ACADEMY MAKES IT 4 OUT OF 4
नेपकोन-2022 कॉन्फ्रेंस में देश-विदेश के विशेषज्ञों ने दी नवीनतम जानकारी
Urine bag operation in PIMS
पारस जे. के. हॉस्पिटल में न्यूरोसर्जन्स के लिए शैक्षणिक कार्यशाला आयोजित
HDFC Bank signs MoU with SAIL for corporate salary relationship
रित्विक रॉय की उम्दा पारी की बदौलत जीता दिल्ली चैलेंजर्स
आम आदमी पार्टी की कार्यकारिणी का विस्तार
कल से शुरू हो रहा वेदांता उदयपुर संगीत महोत्सव अपने 6वें संस्करण के लिए एक इलेक्ट्रिक लाइनअप के साथ ...
VODAFONE TURBONET 4G VERIFIED AS THE FASTEST 4G NETWORK IN RAJASTHAN
हिन्दुस्तान जिंक का एंटरप्राइज रिस्क मैनेजमेंट सिस्टम आईएसओ 31000 :2018 से प्रमाणित

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *