बी. चौधरी को भावभीनी श्रद्धांजलि

उदयपुर। स्व. बी. चौधरी ने अपना सम्पूर्ण जीवन श्रमिकों के हितों के लिए समर्पित कर दिया और उन्होंने हिन्दुस्तान जि़ंक लि. ही नहीं वरन् सम्पूर्ण राजस्थान एवं इस क्षेत्र के विभिन्न उद्योगों के विकास में अग्रणी रहे और उन्होंने श्रमिक हितों के लिए जीवनपर्यन्त कार्य किया एवं प्रतिभागी प्रबन्धन की एक अनूठी मिसाल कायम की है जिसे कभी नहीं भुलाया जा सकता है और आज भी स्व. बी. चौधरी के मार्गदर्शन, श्रमदर्शन, औद्योगिक संबंधों में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है। श्री चौधरी ने मजदूर हितों की रक्षा के अलावा क्षेत्र में सामाजिक कार्य भी किये जिसमें अस्पताल एवं बधिर विद्यालय आदि के उत्थान में तन, मन, एवं धन से सहयोग प्रदान किया। श्री चौधरी द्वारा किये गये कार्यों की सराहना की गई तथा उपरोक्त परम्परा को जारी रखने का सर्वसम्मति से आह्वान किया। यह विचार हिन्दुस्तान जि़ंक केन्द्रीय कार्यालय श्रमिक संघ के महामंत्री एम. के. लोढ़ा ने श्री बी. चौधरी की 29वीं पुण्यतिथि पर आयोजित पुष्पाजंली कार्यक्रम में व्यक्त किए।
हिन्दुस्तान जिंक केन्द्रीय कार्यालय श्रमिक संघ के यशद भवन स्थित संघ कार्यालय में श्री बी. चौधरी की 29वीं पुण्यतिथि पर पुष्पांजलि कार्यक्रम रखा गया। पुष्पाजंली कार्यक्रम में हिन्दुस्तान जिंक़ के उप-मुख्य कार्यकारी अधिकारी कृष्णमोहन नारायण, चीफ आपरेटिंग आफिसर, स्मेल्टर्स (COO-Smelters) सी. चन्द्रु, मुख्य मानव संसाधन अधिकारी (CHRO) मुनीष वासुदेव, उप-मुख्य मानव संसाधन अधिकारी (Dy.CHRO) मनमीत सिंह ने श्रमिक नेता बी. चौधरी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर हिन्दुस्तान जिंक केन्द्रीय कार्यालय श्रमिक संघ के पदाधिकारी महासचिव एम.के. लोढ़ा, उपाध्यक्ष-पंकजकुमार शर्मा, सचिव-नारायणलाल शर्मा, कोषाध्यक्ष-नरेन्द्र भादविया, संगठन सचिव-चन्द्र प्रकाश गन्धर्व एवं सदस्य हर्षवर्धन औदिच्य, सुनील अमलाजिया, चेनराम डांगी के साथ सभी कर्मचारियों ने एवं सेवानिवृत्त कर्मचारी एम.के. दीक्षित, हिम्मतलाल नागदा एवं कम्पनी के अधिकारियों ने श्रद्धासुमन अर्पित किये ।

Related posts:

शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए 27वें भामाशाह पुरस्कार में हिन्दुस्तान जिंक को 7 पुरस्कार
सिटी पेलेस उदयपुर में दीपोत्सव व विशेष पूजा-अर्चना
कोरोना मृत्युंजय की ओर, रोगी 32 तो मरने वाले मात्र 4
फील्ड क्लब क्रिकेट कार्निवल: तीन मुकाबलों में दिखा रोमांच
ऊर्जा संरक्षण दिवस पर हिन्दुस्तान जिंक ने मनाया नो व्हीकल डे
आजादी के शताब्दी वर्ष 2047 तक संपूर्ण विकसित और आत्मनिर्भर भारत बनाएंगे : केंद्रीय गृहमंत्री
हिंदुस्तान जिंक ने मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता के लिये शुरू किया रीचआउट अभियान
ऋतु श्रीमाली को पीएचडी की उपाधि
मल्टीमीडिया प्रदर्शनी का रंगारंग प्रस्तुति, राष्ट्रगान एवं शपथ के साथ समापन
हिन्दुस्तान जिंक द्वारा 265 खुशी आंगनबाड़ियों में बाल मेले आयोजित
व्हील चेयर क्रिकेट कुंभ 27 नवम्बर से
महाराणा अमरसिंह प्रथम की 465वीं जयन्ती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *