फिनो पेमेंट्स बैंक ने चैथी तिमाही में लाभ दर्ज किया

जयपुर । फिनो पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (एफपीबीएल) ने शुक्रवार को घोषणा की कि यह वित्तवर्ष 19-20 के लिए ऑपरेटिंग लेवल पर लाभ की स्थिति में है। यह उपलब्धि बैंक ने जुलाई 2017 में अपना काम शुरू करने के तीन सालों में हासिल कर ली।

इसके बाद एफपीबी एकमात्र स्टैंडअलोन  प्रॉ‍िफटेबल पेमेंट्स बैंक बन गया है, जो पूर्णतः आरबीआई के वित्तीय समावेशन के उद्देश्य के अनुरूप काम करता है और मुख्यतः ग्रामीण इलाकों में बैंकिंग सेवाओं की उपलब्धता में सुधार करता है।

फिनो पेमेंट्स बैंक के आॅपरेटिंग लाभ के सफर में विनिमय महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वित्तवर्ष 19-20 में एफपीबी ने 1 लाख करोड़ रु. मूल्य के विनिमय किए, जो पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले दोगुने थे। वाॅल्यूम की दृष्टि से विनिमय वित्तवर्ष 18-19 में 195 मिलियन से लगभग दोगुने बढ़कर वित्तवर्ष 19-20 में 380 मिलियन से ज्यादा हो गए।

फिनो पेमेंट्स बैंक के एमडी एवं सीईओ ऋषि गुप्ता ने कहा कि एस्सेट प्रोडक्ट न होने के चलते पेमेंट्स बैंक माॅडल जोखिम रहित होता है। हमने इस दायित्व एवं एक पेमेंट्स ओनली माॅडल को एस्सेट बनाने के लिए काम किया। हमारा सामरिक केंद्रण डिजिटल प्लेटफाॅम्र्स पर एक लचीले परिवर्तनशील लागत माॅडल, विनिमय बढ़ाने पर रहा है और उच्च मार्जिन वाले उत्पादों ने हमें वित्तवर्ष 19-20 में 86 प्रतिशत की वृद्धि करने में समर्थ बनाया। 689 करोड़ रु. के राजस्व के साथ हमने वित्तवर्ष 2019-20 का समापन पाॅज़िटिव ईबीआईटीडीए के साथ किया और चैथी तिमाही में लाभ दर्ज किया।

श्री गुप्ता ने कहा कि यह हमारे लिए उल्लेखनीय उपलब्धि है क्योंकि हमने विभिन्न चुनौतियों के बीच बैंक के व्यवसायिक माॅडल की मजबूती का प्रदर्शन किया तथा कम आय वाले विशाल बाजार के ग्राहकों को सेवाएं देने में सफलता हासिल की। हमारा मानना है कि यह फिनो की उपलब्धियों की शुरुआत है और भविष्य की तिमाहियों में भी हम ऐसे ही लाभ अर्जित करते रहेंगे। हमारा उद्देश्य इस मूमेंटम को आगे बढ़ाना तथा सभी अंशधारकों को फायदा पहुंचाते हुए तेजी से विकास करते रहना है।

एफपीबी की कार्ययोजना एक मजबूत फाईनेंशल सर्विसेस डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क का निर्माण है। बैंक ने अपना नेटवर्क वित्तवर्ष 18-19 में एक लाख से कम प्वाईंट्स से दोगुना बढ़ाकर वित्तवर्ष 19-20 में लगभग 2 लाख प्वाईंट्स कर लिया, जिनमें से 80 फीसदी ग्रामीण इलाकों में स्थित हैं।

बैंक 50 से ज्यादा एपीआई पार्टनर्स के साथ मिलकर काम करता है, जिनके पास सामूहिक रूप से 2 लाख प्वाईंट्स का नेटवर्क है। इस प्रकार एफपीबी का संयुक्त (अपने+पार्टनर) नेटवर्क लगभग 4 लाख प्वाईंट्स का है। बैंकिंग की उपलब्धता और ज्यादा बढ़ाने के लिए एफपीबी अगले 24 से 30 महीनों में अपने नेटवर्क को 10 आउटलेट्स तक बढ़ाने की योजना बना रहा है।

Related posts:

HDFC Bank Parivartan impacts 10.19 crore lives, 9000+ villages through CSR initiatives
इंडिया शेल्टर ने जीता अवार्ड
एचडीएफसी बैंक के द्वारा जारी की गई भारत की पहली इलेक्ट्रॉनिक बैंक गारंटी
महाराजा व्हाठइट लाइन ने प्रोवेव सुपर 65 डेजर्ट कूलर्स लॉन्च किया
माउंटेन ड्यू आइस ने भारत में अपना पहला कैंपेन शुरू किया
राज सुराना जीतो उदयपुर चैप्टर के अध्यक्ष निर्वाचित
टाटा और हिन्दुस्तान जिंक के बीच एमओयू
हिन्दुस्तान ज़िंक के तीसरी तिमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा
Nexus Malls, a leader in Indian Retail, Reveals New Brand Identity
इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक और एचडीएफसी बैंक में साझेदारी
टाटा मोटर्स का पॉवर ऑफ़ 6’ एक्सपो आज से
निसान इंडिया की नई बी-एसयूवी का नाम ‘निसान मैग्नाइट’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *