एचडीएफसी बैंक और इंडियन डेंटल एसोसिएशन में एमओयू

उदयपुर। एचडीएफसी बैंक और इंडियन डेंटल एसोसिएशन (आईडीए) ने नए स्नातक दंत चिकित्सकों को अपनी दंत चिकित्सा पद्धतियां स्थापित करने के लिए निर्बाध और परेशानी मुक्त फंडिंग की पेशकश करने के लिए एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। इससे देश में मौखिक स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। इस पहल के तहत दिए गए ऋण की गारंटी सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट (सीजीटीएमएसई) द्वारा दी जाएगी, जो भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) की एक संयुक्त पहल है।
समझौता ज्ञापन पर सुश्री गायत्री राव कोर्डे – जोनल हैड और वरिष्ठ उपाध्यक्ष, एचडीएफसी बैंक, सुमित याग्निक – वरिष्ठ उपाध्यक्ष, बिजनेस लोन, एचडीएफसी बैंक और डॉ. अशोक ढोबले – माननीय सेक्रेटरी जनरल, आईडीए ने मुख्य अतिथि, संदीप वर्मा – सीईओ, सीजीटीएमएसई, राजीव कुमार, कार्यकारी उपाध्यक्ष – एचडीएफसी बैंक, फैसल सारा, कार्यकारी उपाध्यक्ष – एचडीएफसी बैंक, राघवेंद्रस्वामी मैनांपती – जोनल हैड, एचडीएफसी बैंक, डॉ. कश्मीरा हडकर – परियोजना प्रमुख, आईडीए और एचडीएफसी बैंक और आईडीए के अन्य वरिष्ठ अधिकारियो की उपस्थिति  में हस्ताक्षर किये
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में प्रति 10,000 आबादी पर दो दंत चिकित्सक हैं। यह साझेदारी एचडीएफसी बैंक के पूर्व जोनल प्रमुख स्व. नीलेश सामंत के दिमाग की उपज थी और उनके प्रयास तीनों संगठनों को एक आम मंच पर लाने में सहायक थे। इस विशिष्ट रूप से तैयार की गई पहल का उद्देश्य देश में मौखिक स्वास्थ्य देखभाल के नियादी ढांचे को बढ़ाना और स्वास्थ्य देखभाल वित्त को बढ़ावा देना होगा। यह भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की राष्ट्रीय मौखिक स्वास्थ्य नीति के अनुरूप है।
आईडीए में 75,000 से अधिक पंजीकृत दंत चिकित्सक हैं और हर साल लगभग 25,000 नए दंत चिकित्सक स्नातक होते हैं। इस समझौता ज्ञापन के साथ, एचडीएफसी बैंक और आईडीए सीजीटीएमएसई के साथ मिलकर नए स्नातक दंत चिकित्सकों को अपनी दंत चिकित्सा पद्धति स्थापित करने के लिए सशक्त बनाने के लिए वित्त तक आसान पहुंच की सुविधा प्रदान करने के लिए मिलकर काम करेंगे। योग्य दंत चिकित्सक 1-5 वर्ष की पुनर्भुगतान अवधि के साथ 10 लाख रुपये तक की ऋण राशि प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के तहत, दंत चिकित्सकों को न्यूनतम दस्तावेजीकरण और बिना किसी अतिरिक्त/सुरक्षा और पिछले वित्तीय ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर वित्त उपलब्ध कराए जाने का लाभ मिलेगा।
एचडीएफसी बैंक की जोनल प्रमुख और वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुश्री गायत्री राव कोर्डे ने कहा कि हम आईडीए और सीजीटीएमएसई के साथ हाथ मिलाकर खुश हैं, हमारा मानना है कि यह एक परिवर्तनकारी सहयोग हो सकता है। हमारे आकार के देश को अधिक दंत चिकित्सकों और मौखिक स्वास्थ्य देखभाल के बुनियादी ढांचे तक आसान पहुंच की आवश्यकता है। इस पहल के माध्यम से हम दंत चिकित्सकों, विशेष रूप से नए स्नातकों को ग्रामीण स्थानों सहित देश भर में क्लीनिक स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करके अंतर को पाटने में मदद कर रहे हैं।
डॉ. अशोक ढोबले – माननीय सेक्रेटरी जनरल आईडीए ने कहा कि हमारे जैसे पेशे में जहां डेंटल क्लिनिक स्थापित करने के लिए उच्च प्रारंभिक पूंजी की आवश्यकता होती है, एचडीएफसी बैंक के साथ यह सहयोग युवा दंत चिकित्सकों को अपनी प्रैक्टिस शुरू करने के लिए प्रोत्साहित करने में काफी मदद करेगा। हम इस पेशे को पूरे देश में बढऩे और इसकी पहुंच का विस्तार करने में मदद करने के लिए एचडीएफसी बैंक और सीजीटीएमएसई के साथ सहयोग करके खुश हैं और इस तरह ‘सभी के लिए इष्टतम मौखिक स्वास्थ्य’ के हमारे दृष्टिकोण में योगदान करते हैं।
सीजीटीएमएसई के सीईओ और मुख्य अतिथि संदीप वर्मा ने कहा कि हमें एचडीएफसी बैंक और आईडीए के साथ जुडक़र और गारंटी तंत्र के साथ इस व्यवस्था को समर्थन देकर खुशी हो रही है। यह सहयोग उन दंत चिकित्सकों को भी वित्त पोषित करेगा जो क्रेडिट के क्षेत्र में नए हैं। हम प्रौद्योगिकी का लाभ उठाकर और डिजिटल चैनलों के उपयोग द्वारा पहल की मापनीयता को लेकर भी आश्वस्त हैं। इससे प्रक्रिया को निर्बाध रूप से पूरा करने में मदद मिलेगी और यह अधिक संख्या में दंत चिकित्सकों के लिए भी सुलभ हो जाएगी जिसके परिणामस्वरूप दंत चिकित्सा और संबद्ध क्षेत्रों में और अवसर पैदा होंगे।

Related posts:

1st LNG Vehicle Flagged off at Hindustan Zinc
आकाश एजुकेशनल सर्विसेस लि. का पहला कॉर्पोरेट सेंटर उदयपुर में लॉन्च
हिंदुस्तान जिंक के जावर ग्रुप ऑफ माइंस ने समुदाय में स्वच्छता के लिये जन भागीदारी को प्रोत्साहित किय...
एक्सकॉन 2019 का जोरदार शुभारंभ
जिंक स्मेल्टर देबारी की घाटावाली माताजी किसान उत्पादक कंपनी द्वारा वार्षिक आम सभा आयोजित
HDFC Bank launches pilot for Offline Digital Payments
आईआईएचएम इंस्टीट्यूट ऑफ हॉस्पिटैलिटी स्किल्स (आईआईएचएस) के उदयपुर में सबसे बड़े प्रशिक्षण केंद्र का ...
प्रधानमंत्री 10 को नाथद्वारा यात्रा पर
‘एलजीबीटीक्यूआईए समुदाय की वर्तमान स्थिति तथा मीडिया और समाज की भूमिका’ पर राष्ट्रीय वेबिनार आयोजित
इंदिरा गांधी गैस सिलेण्डर सब्सिडी योजना के लाभार्थियों से संवाद
ओसवाल सभा महिला प्रकोष्ठ द्वारा योग दिवस का सफल आयोजन
गिट्स कोे राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (एनएएसी) द्वारा मिला ग्रेड -ए का खिताब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *