सिडबी की स्टैंड-अप-इंडिया अभियान को बढ़ावा देने के लिए महिला उद्यमी परिसंघ के साथ साझेदारी

‘स्वावलंबन सशक्त’ मेगा अभियान का शुभारंभ
उदयपुर।
सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) के प्रचार, वित्तपोषण और विकास में संलग्न प्रमुख वित्तीय संस्थान भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) ने महिला उद्यमियों के परिसंघ (सीओडबल्यूई) के साथ मिलकर ‘स्वावलंबन सशक्त’- मेगा अभियान का शुभारंभ किया है। इस अभियान के तहत, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आरंभ की गई स्टैंड अप इंडिया (एसयूआई) योजना को बढ़ावा देने के लिए ‘जागृति, पहुँच व व्यवसाय के अवसरों का सृजन’ कार्यक्रम के रूप में 20 वेबिनार कार्यक्रमों की शृंखला चलाई जाएगी। बैकों की प्रत्येक शाखा द्वारा अनुसूचित जाति (एससी) या अनुसूचित जनजाति (एसटी) के उधारकर्ताओं को विनिर्माण, सेवाओं या व्यापारिक क्षेत्र में ग्रीनफील्ड उद्यम स्थापित करने और कम से कम एक महिला उधारकर्ता को 10 लाख रूपये से 1 करोड़ रूपये तक के ऋण दिए जाने विषयक उक्त स्टैंड अप इंडिया (एसयूआई) योजना को बढ़ा दिया गया है।
सिडबी के उप प्रबंध निदेशक वी. सत्य वेंकटा राव ने कहा कि स्वावलंबन सशक्त के तहत लक्षित आकांक्षी महिला उद्यमियों में व्यावसायिक नेतृत्व की ज्योति को प्रज्वलित करने की परिकल्पना की गई है ताकि वे स्वावलंबी बनने के लिए अपनी उद्यमशीलता की यात्रा शुरू करें और रोजगार ढूढऩे के बजाय रोजगार प्रदाता बनें। सिडबी का जोर हमेशा से एमएसएमई पारितंत्र को मजबूत बनाने पर रहा है। भारत सरकार ने इस योजना के तहत कम प्रवर्तक योगदान और कृषि-संबद्ध गतिविधियों को जोडऩे विषयक छूट की घोषणा की है जो कि आत्मनिर्भर भारत और स्थानीय उद्यमिता को आगे बढ़ाने की दिशा में एक समावेशी और अत्यधिक प्रभावोन्मुखी कदम है। हम उम्मीद कर रहे हैं कि इससे अधिक से अधिक ग्रामीण और असेवित उप-क्षेत्र उक्त योजना से जुड़ जाएंगे।
यह राष्ट्रीय अभियान 3 फरवरी को सिडबी के उपप्रबंध निदेशक राव के कर कमलों से शुरू हुआ, जबकि इस स्वावलंबन सशक्त-मेगा अभयान का दूसरा वेबिनार कार्यक्रम 10 फरवरी को आयोजित किया गया। यह वेब सीरीज हर बुधवार को दोपहर 3.00 बजे आयोजित की जाएगी। कार्यक्रम के दौरान, एक सफल स्टैंड अप इंडिया (एसयूआई) उद्यमी ने प्रतिभागियों को संबोधित किया और योजना के तहत मार्जिन राशि की आवश्यकता को घटकर 25 प्रतिशत से 15 प्रतिशत किए जाने और कृषि से संबद्ध गतिविधियों को योजना के तहत ऋण की पात्रता में शामिल किए जाने के बारे में केंद्रीय बजट 2021 में की गई घोषणा का लाभ उठाने का आह्वान किया। महिला उद्यमियों के परिसंघ के वरिष्ठ अधिकारियों और बैंक प्राधिकारियों ने भी आकांक्षियों को इन रियायतों का फायदा उठाने के लिए आह्वान किया। यह वेबिनार श्रृंखला, सभी हितधारकों द्वारा एक सहभागितापूर्ण विचार-विनिमय है, जो व्यवसाय विकास की जागरूकता और उत्पत्ति के लिए मंच प्रदान करती है, जिसके अंतर्गत आमंत्रित व्यवसायों को अपने व्यवसाय मॉडल सबके समक्ष प्रदर्शित करने, आकांक्षी महिला उद्यमियों द्वारा अपनी पसंद के व्यवसाय का चयन करने और बैंकों/ वित्तीय संस्थाओं द्वारा व्यवसाय के सूत्र जुटाने के साथ-साथ आकांक्षियों को स्टैंड-अप इंडिया योजना के तहत उनकी उम्मीदों के बारे में मार्गदर्शन प्रदान करने के सुअवसर प्राप्त होते हैं।

Related posts:

HDFC Bank net profit rises
ZINC FOOTBALL ACADEMY WIN HEARTS WITH BRAVE PERFORMANCE IN PUNJAB
माइंडवार्स ने स्कूल जाने वाले  विद्यार्थियों केलिए भारत का सबसे बड़ा ऑनलाइन जीके ओलिम्पयाड लॉन्च किय...
सीजीटीएमएसई ने उड़ान पोर्टल का अनावरण किया
हिन्दुस्तान जिंक की समाधान परियोजना कोरोना संकट में किसानों को पहुंचा रही लाभ
मैरिको विशेषज्ञ डॉ. शिल्पा वोरा ने दी हेयर एण्ड केयर ट्रिपल ब्लेंड, नॉन-स्टिकी हेयर ऑयल चुनने की सला...
Hindustan Zinc commits to CEO Water Mandate
TRANSFORMING FARMING WITH MODERN TECHNOLOGY – HINDUSTAN ZINC’S SAMADHAN PROJECT
टाइड के नये अभियान ‘टाईड बनाए टाइम‘ की घोषणा
Kotak Mahindra Bank Multimedia Marketing Campaign
एमवे ने अपने डायरेक्ट सेलर्स और उनके उपभोक्ताओं के सहयोग के लिए डिजिटल क्षमताओं को बढ़ाया
लेग्रांड कम्पनी द्वारा उदयपुर में देश का पहला इलेक्ट्रीशियन जॉब फेयर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *