वेदांता के चैयरमेन अनिल अग्रवाल ने कोविड -19 से प्रभावित कमजोर समुदायों की आजीविका की रक्षा के लिए 100 करोड़ का कोष स्थापित किया

कार्पोरेट घराने इस संकट की घड़ी में राज्य एवं केन्द्र सरकार की मदद को आगे आये-अनिल अग्रवाल
वेदांता समूह सरकार के साथ साथ सभी इकाईयों के कर्मचारी एवं आस पास के समुदाय की मदद के लिए तत्पर


उदयपुर। धातु और खनन में वैश्विक समूह कंपनी वेदांता लिमिटेड ने भारत सरकार के साथ कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए इसी कड़ी में 100 करोड़ के कोष की स्थापना करने की घोषणा की है। यह कोष तीन विशिष्ट क्षेत्रों को पूरा करेगा जिनमें दैनिक वेतन भोगी कामगारों, कर्मचारियों और अनुबंध कर्मचारियों की आजीविका, निवारक स्वास्थ्य देखभाल के साथ साथ कंपनी के विभिन्न संयंत्र स्थानों में एवं आसपास के समुदायों को समय पर सहायता प्रदान करेगा।
”श्री अनिल अग्रवाल, अध्यक्ष, वेदांता रिसोर्सेज लिमिटेड ने कहा कि “दुनिया वर्तमान में कोविड 19 के खिलाफ एकजुट हो कर लड़ाई लड रही है। राज्य सरकारों के साथ भारत सरकार ने अब तक वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अनुकरणीय कार्य किया है। यह महत्वपूर्ण है कि कॉरपोरेट घराने इस महामारी रूपी घातक वायरस के खिलाफ लड़ाई में सरकार की सहायता करें, ताकि राष्ट्र के पास अपने नागरिकों की देखभाल करने और चिकित्सा और वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए पर्याप्त संसाधन हों। यह कोष वेदांता की ओर से पहला कदम है और अगर जरूरत पड़ी तो इसे और बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा, हम इकाईयों के आस पास के लोगो को आजीविका के नुकसान के लिए समुदायों की सहायता करेंगे। मैं देश के प्रत्येक नागरिक से अनुरोध करता हूं कि वे सुरक्षित रहें और जिम्मेदारी से काम करें । मैं अपने सभी लोगों के बारे में गहराई से चिंतित हूं लेकिन अगर हम सकारात्मक रहें और पर्याप्त सावधानी बरतें, तो हम और मजबूत बनेंगे।‘‘
हम इस संकट की अवधि में सकारात्मक कदम उठाते हुए सुनिश्चित करते है कि इस दौरान अस्थायी कर्मचारियों सहित किसी भी कर्मचारी के वेतन में कटौती नहीं की जाएगी ना ही कार्य से विच्छेद किया जाएगा। इसके साथ ही यह भी निर्णय लिया गया है कि कोविड-19 के खिलाफ वेदांता समूह के कर्मचारियों और उनके परिवारों को संरक्षित करते हुए विशेष रूप से वन टाइम इंश्योरेंस दिया जाएगा। इसके अलावा, परिचालन क्षेत्रों में सभी मोबाइल स्वास्थ्य वैन निवारक स्वास्थ्य देखभाल में सहयोगी होंगे और प्रत्येक व्यावसायिक इकाई एवं संयंत्र स्थानों के आसपास दैनिक मजदूरी से कमाने वालों की आजीविका में योगदान किया जाएगा।
एक जिम्मेदार कॉरपोरेट के रूप में, वेदांता और उसकी सहायक कंपनियां कई स्थानों पर अपने विकास के काम में समुदायों के साथ मिलकर काम कर रही हैं, जिसमें मुफ्त स्वास्थ्य जांच और उपचार, स्वच्छ पेयजल, वंचित छात्रों के लिए छात्रवृत्ति, महिलाओं को स्व-सहायता प्रदान करना शामिल है। इसमें समूहों और अपने संयंत्र स्थानों में और आसपास के युवाओं और सार्वजनिक बुनियादी ढांचे के विकास के लिए कौशल प्रशिक्षण शिविर का अयोजन भी शामिल है।

Related posts:

ओसवाल सभा महिला प्रकोष्ठ द्वारा योग दिवस का सफल आयोजन
स्विगी डाइनआउट ने 50 प्रतिशत की छूट के साथ उदयपुर में लॉन्च किया ग्रेट इंडियन रेस्टोरेंट फेस्टिवल (ज...
हिन्दुस्तान जिंक ने मेन्सट्रुअल हाइजीन डे पर बालिकाओं और महिलाओं को किया जागरूक
पिम्स हॉस्पिटल, उमरड़ा में ग्रीन लेजर से आँखों के परदे (रेटिना) के सफल ऑपरेशन
डॉ. भानावत को राष्ट्र भारती सम्मान
लाडिया खेड़ा गांव में पानी की टंकी का उद्घाटन एवं वृक्षारोपण
Hindustan Zinc Unveils a New Campaign#ZincCity: Uniting Udaipur Through a Vibrant Cultural Tapestry
कोविड -19 महामारी से लड़ने के लिए वेदांता ने अपने योगदान को बढ़ाकर 201 करोड़ किया
बाल साहित्य आलेख लेखन प्रतियोगिता हेतु प्रविष्टि आमंत्रित
पोषकता से भरपूर मोटे अनाज के पीछे भागने लगा है अमीर आदमी: डाॅ. कौशिक
108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ की वेदियों का निर्माण पूर्ण
चार दिवसीय राष्ट्रीय मेडिकल कांफ्रेंस नेपकोन – 2022 का उद्घाटन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *