राज्यपाल ने किया प्रताप गौरव केन्द्र का अवलोकन

उदयपुर। उदयपुर की दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे राज्यपाल माननीय कलराज मिश्र गुरुवार अपराह्न प्रताप गौरव केन्द्र पहुंचे और केन्द्र का अवलोकन करते हुए यहां पर स्थित वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की विशाल प्रतिमा और प्रताप के जीवन पर आधारित प्रदर्शनी को देखकर प्रसन्नता जताई।
राज्यपाल ने प्रताप गौरव केन्द्र की प्रदर्शनी दीर्घा में महाराणा प्रताप के जीवन और उनकी वीरता को प्रदर्शित करने वाली चित्र प्रदर्शनी को देखा। प्रताप गौरव केन्द्र के निदेशक अनुराग सक्सेना ने चित्र प्रदर्शनी के विभिन्न प्रभागों का अवलोकन कराते हुए इसकी विषयवस्तु की जानकारी दी।
इससे पूर्व राज्यपाल केन्द्र के ठीक सामने पहाड़ी पर स्थित महाराणा प्रताप की 57 फीट ऊंची विशाल प्रतिमा तक भी पहुंचे और प्रतिमा पर पुष्पांजलि की। यहां पर केन्द्र के प्रकाश चन्द्र ने प्रतिमा के बारे में अवगत कराया। राज्यपाल ने महाराणा प्रताप के शौर्य को प्रदर्शित करती इस विशाल प्रतिमा को अद्भुत बताया।
प्रदर्शनी का अवलोकन करने के बाद राज्यपाल ने कहा कि इस केंद्र में राष्ट्र भक्ति की प्रतिमूर्ति महाराणा प्रताप का संपूर्ण जीवन समाहित है। यहां महाराणा प्रताप की वीरता को विभिन्न प्रदर्शनियों के माध्यम से जिस ढंग से प्रदर्शित किया गया है उसकी जितनी प्रशंसा की जाए वो कम है। उन्होंने कहा कि केन्द्र में बड़ी प्रमाणिकता के साथ विभिन्न माध्यमों में महाराणा प्रताप के जीवनवृत्त को प्रदर्शित किया है। निश्चित रूप से यहां जो भी पर्यटक आएगा वो विशेष रूप से प्रभावित होगा और इससे प्रेरणा प्राप्त करेगा। उन्होंने कहा कि इस केन्द्र का दर्शन अधिकतम संख्या में विद्यार्थियों को कराया जाए ताकि बच्चों को महाराणा प्रताप की वीरता एवं उनके त्यागपूर्ण जीवन की जानकारी प्राप्त हो सके।
इस मौके पर राज्यपाल ने प्रताप गौरव केन्द्र द्वारा स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में आयोजित होने वाले ‘स्वराज 75’ कार्यक्रम और पुष्प प्रदर्शनी के पोस्टर का विमोचन भी किया। इस दौरान समाजसेवी प्रकाशचंद्र, हेमेंद्र श्रीमाली, गोविन्द अग्रवाल, स्वराज-75 के संयोजक सुहास मनोहर मंचासीन थे। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप समिति के कोषाध्यक्ष अशोक पुरोहित ने मंचासीन माननीय राज्यपाल को स्मृति चिह्न प्रदान कर स्वागत किया। तत्पश्चात केन्द्र निदेशक अनुराग सक्सेना ने प्रताप गौरव केंद्र की विस्तृत जानकारी देते हुए आगामी योजना से अवगत कराया। इस मौके पर हनुमानसिंह राठौड़, श्री वर्धन सहित अन्य उपस्थित थे।

Related posts:

महाराणा प्रताप के लिए जब कोई अपशब्द बोलता है तो मन को बहुत पीड़ा होती है : लक्ष्यराजसिंह मेवाड़
राजस्थान विद्यापीठ में हिन्दी दिवस पर संगोष्ठी
सुकन्या समृद्धि मेगा कैंप में 510 खाते खुले
वेदान्ता के निदेशक ने देखी नारायण सेवा
रेनेडी सिंह, ओइनम बेमबेम देवी तथा शाजी प्रभाकरन ने किया जिंक फुटबॉल अकादमी का दौरा
18 years old flagship campaign of ‘Say No to Dowry’ initiated by NSS
समारोहपूर्वक मनाया इण्डियन माईनिंग दिवस मनाया
बिटिया के सूरज पूजन को महोत्सव बना कर दिया बेटी बचाओ का सन्देश
A Frendy “Khama Ghani”- Frendy launches its services in Rajasthan at a soft launch event in Udaipur
हिंदुस्तान जिंक की आईटी प्रणाली को एकीकृत आईएसओ प्रमाण पत्र
हनुमान जन्मोत्सव पर जाग्रत हनुमानजी की होगी विशेष पूजा-अर्चना
उदयपुर में अर्बन - 95 प्रोजेक्ट के फस्र्ट फेज का सफलतापूर्वक समापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *