इंटरनेशनल सेंटर फॉर एक्सीलैंस के लिए आईएसडीसी और जेईसीआरसी में समझौता

उदयपुर। ब्रिटिश शिक्षा और स्किल्स उपलब्ध कराने वाले अग्रणी अंतर्राष्ट्रीय संस्थान आईएसडीसी (इंटरनेशनल स्किल डेवपलमेंट कार्पोरेशन) ने सेंटर ऑफ एक्सीलैंस (सीओई) की स्थापना के लिए अग्रणी निजी विश्वविद्यालय जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी जयपुर से समझौता किया है। इस सीओई में विभिन्न तरह के अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट कोर्स कराए जाएंगे। आईसीओई की स्थापना छात्रों को ऐसे वैश्विक अकादमिक विषयों और सर्टिफिकेशंस की सम्पूर्ण जानकारी देने और उनसे परिचित कराने के लिए की गई है जो उन्हें दूसरों से अलग खड़ा करेंगे और उनमें नेतृत्व की विशेषताएं विकसित कर उन्हें आत्मनिर्भर नेतृत्वकर्ता बनाएंगे।
आईसीओई के जरिए जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के छात्र उद्योगों से सीधे तौर पर जुड़े हुए प्रेक्टिकल और इंटीग्रेटेड पाठ्यक्रमों से जुड़ सकेंगे और उन्हें ऐसी वैश्विक योग्यता मिलेगी जो उन्हें आगे शिक्षा और रोजगार प्राप्त करने में सहायता करेगी। आईसीओई द्वारा कराए जाने वाले पाठ्यक्रमों में फाइनेंस एंड एनेलेटिक्स और इंटरनेशनल फाइनेंस में बी.कॉम. ऑनर्स, डिजिटल मार्केटिंग में बीबीए ऑनर्स जैसे अंडरग्रेजुएट कोर्स शामिल हैं। वहीं पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में मैनेजमेंट एकाउंटिंग में एम.कॉम., डिजिटल बिजनेस, फाइनेंशियल मार्केट्स और इंटरनेशनल फाइनेंस में एमबीए शामिल हैं। आईएसडीसी जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ एनेलेटिक्स (आईओए), एसोसिएशन ऑफ चार्टर्ड सर्टिफाइड एकाउंटेट्स (एसीसीए), चार्टर्ड इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एकाउंटेट्स (सीआईएमए), डिजिटल मार्केटिंग इंस्टीट्यूट (डीएमआई), सर्टिफाइड मैनेजमेंट एकाउंटेंट (सीएमए), एआई सोसायटी इंटरनेशनल (एआईएसआई) और इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंशियल मार्केट्स (आईएफएम) जैसे अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों के कोर्स लेकर आया है। छात्रों को उद्योग से जुड़े विशेषज्ञों से प्रशिक्षण मिलेगा जो गहन और वास्तविक जानकारी देंगे। इससे छात्रों को वैश्विक कॅरियर अवसरों के लिए तैयार होने का मौका मिलेगा।
इस समझौते पर आईएसडीसी के डायरेक्टर- स्टेटेजी एंड डेवलपमेंट टॉम जोसेफ ने कहा कि हम यहां ऐसे अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट ग्लोबल प्रोग्राम लेकर आएंगे जो छात्रों को उद्योग की जरूरत के हिसाब से भविष्य की दक्षताओं के लिए तैयार करेंगे और जिनके दम पर वे ग्लोबल कॅरियर्स को अपना सकेंगे। जेईसीआरसी कई अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स, वैश्विक स्तर पर मान्यता प्राप्त कोर्स, रिसर्च प्रोग्राम्स और सांइटिफिक ट्रेनिंग सुविधाएं उपलब्ध कराती है। इससे छात्रों को ऐसा जिम्मेदार नागरिक बनाया जाता है जो आज के उद्योगों की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं।
आईएसडीसी कई विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों के साथ काम करता है और एकेडेमिक डिग्रियों को एक्सटर्नल एक्रीडेटेशंस, मेम्बरशिप्स और योग्यताओं के लिए विकसित और अपग्रेड करता है। आईएसडीसी यूके स्किल्स फेडरेशन, स्कॉटिश क्वालिफिकेशन अथॉरिटी और कई ब्रिटिश यूनिवर्सिटीज के साथ काम कर रहा है। इसके साथ ही यह यूके की 25 प्रोफेशनल बॉडीज से जुड़ा है और उनके लिए मार्र्केट के विस्तार, ट्रांसनेशनल एजुकेशन और ग्रोथ का काम करता है।
जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के वाइस चेयरपर्सन अर्पित अग्रवाल ने कहा कि इस समझौते से कई विश्वस्तरीय प्रतिष्ठित पाठ्यकम कैम्पस में आ गए हैं। विभिन्न अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट कोर्स के साथ ही वैश्विक प्रोफेशनल संस्थाओं के साथ हमारा जुड़ाव हुआ है और उम्मीद है कि इससे हमारे छात्र आने वाले वर्षों में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नई ऊंचाइयां छू सकेंगे।

Related posts:

सीग्राम्स 100 पाइपर्स पौधारोपण को समर्पित भारत के पहले एनएफटी की पेशकश कर ‘नाऊ फंडिंग टुमॉरो’ लेकर आ...
महिंद्रा फर्स्ट चॉइस व्हील्स ने एक और उपलब्धि हासिल की, एक ही दिन में यूज्ड कारों के 34 नये डिजिटल ...
कैटरपिलर और द कैटरपिलर फाउंडेशन ने कोविड-19 राहत कार्यों के लिए 3.4 मिलियन डॉलर का दान किया
स्वावलंबन संकल्प - मेगा अभियान के 16 वेबिनार पूरे
जिंक की चंदेरिया और देबारी इकाई ब्रिटिश सेफ्टी काउंसिल के प्रतिष्ठित स्वोर्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित
अमेजन ने की ग्रेट इंडियन फेस्टिवल की घोषणा
Vadilal eyes Rs. 800 crore in ice cream sales this year
ग्रामीण अर्थव्यवस्था में पुनरुत्थान की वजह से राजस्थान में बढ़ेगा ग्रामीण आवास
हिंदुस्तान जिंक की समाधान परियोजना से जुड़े किसानों ने जावर में मनाया विश्व पशु कल्याण दिवस
JK Tyre secures ‘Best in Class’ rating in ESG performance
ICICI Bank reduces home loan interest rate to 6.70%
सिम्स में 700 ग्राम वजन की नवजात के दिल की सफल सर्जरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *