प्रदेश के सभी नगरीय क्षेत्रों और मण्डियों में मास्क पहनना अनिवार्य

कोरोना को हराने की मुहिम में जनता करे सहयोग: मुख्यमंत्री

उदयपुर। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए प्रदेश के सभी 196 नगरीय क्षेत्रों (नगर निगम, नगरपालिका एवं नगर परिषद) तथा कृषि मण्डियों में अनिवार्य रूप से मास्क पहनना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि राजस्थान ने कोरोना के नियंत्रण में जो सफलता प्राप्त की है, उसे आगे भी कायम रखा जाये। उन्होंने जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, चूरू, टोंक, झुंझुनूं, बांसवाड़ा आदि जिलों में भीलवाड़ा मॉडल लागू कर स्थिति को नियंत्रित करने के निर्देश दिए।
श्री गहलोत गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रंेसिंग के जरिए जयपुर सहित प्रदेशभर में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कर्फ्यू वाले सभी 38 क्षेत्रों में इसकी सख्ती से पालना करवाई जाए। कर्फ्यू वाले क्षेत्र से कर्मचारी सहित कोई भी व्यक्ति अंदर या बाहर नहीं जाए। उन्होंने कहा कि जयपुर में भट्टा बस्ती, अमृतपुरी, खो-नागोरियान, मोती डूंगरी रोड क्षेत्र, जहां घनी आबादी है, वहां रामगंज की तरह ही स्क्रीनिंग, टेस्टिंग सहित अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं।
क्वारंटाइन में प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना हो
मुख्यमंत्री ने कहा कि जयपुर में चारदीवारी के अलावा जिन जगहों पर कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आये हैं, वहां आस-पास के लोगों को होम (निवास) क्वारंटाइन में रखा जाए। क्वारंटाइन के लिए जयपुर के बाहरी क्षेत्रों में स्थित बड़े शिक्षण संस्थानों, होटल, हॉस्पिटल एवं अन्य भवनों को चिन्हित कर उपयोग में लिया जाए। क्वारंटाइन में रह रहे लोगों की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाए और प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना की जाए। जयपुर विकास आयुक्त श्री टी. रविकांत शहर की सभी क्वारंटाइन सुविधाओं के प्रभारी होंगे।
हॉट स्पॉट्स की कैमरों से होगी निगरानी
श्री गहलोत ने निर्देश दिये कि कोरोना संक्रमण के हॉट स्पॉट्स में प्रभावी ऑनलाइन मॉनिटरिंग के लिए कैमरे लगाकर निगरानी की जाए। इससे लोगों की आवाजाही पर पूरी नजर रखी जा सकेगी। उन्होंने कहा कि चारदीवारी में यह प्रयोग सफल होने पर प्रदेश के अन्य जिलों में भी इस तरह की व्यवस्था की जा सकती है। उन्होंने निर्देश दिए ड्रोन कैमरों का उपयोग कर मॉनिटरिंग को अधिक प्रभावी बनायें, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जा सके।
तीस क्लस्टर बनाकर लिए जाएंगे सैम्पल
मुख्यमंत्री ने कहा कि जयपुर के चारदीवारी में संक्रमण के प्रभाव वाले क्षेत्रों में क्लस्टर सैम्पलिंग की व्यवस्था की जाए। इसके लिए पूरे क्षेत्र को 30 कलस्टरों में बांटकर प्रत्येक कलस्टर से 30 सैम्पल लिये जाएं। इससे क्षेत्र में अधिक संक्रमण वाले इलाकों का पता चल सकेगा और इसे रोकने के लिए उचित कदम उठाने में आसानी होगी। उन्होंने प्रभावित क्षेत्र में 5 मोबाइल मेडिकल यूनिट की व्यवस्था करने के भी निर्देश दियेे।

Related posts:

रोटरी क्लब मीरा ने मनाया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस
कैनन इंडिया ने उदयपुर में बिजनेस इमेजिंग सॉल्यूशंस (बीआईएस) लाउंज लॉन्च किया
''राइट टू हेल्थ'' बिल का विरोध
HDFC Bank Marks International Fraud Awareness Week with a Conference to Educate Consumers on Safe Di...
आचार्य तुलसी का 109वाँ जन्मोत्सव मनाया
वरिष्ठ रंगकर्मी विलास जानवे की वीआईएफटी में कार्यशाला
आसियान-भारत कलाकार शिविर के दूसरे संस्करण का उद्घाटन
Signify partners with FINISH Society to light up 20 primary health centers in Rajasthan
Accelerating scientific participation in mining: Hindustan Zinc joins hands with CISR-CIMFR for rese...
नि:शुल्क मोबाइल रिपेयरिंग प्रशिक्षण का समापन
आरबीआई ने कैजाद भरूचा को डिप्यूटी मैनेजिंग डायरेक्टर और भावेश झावेरी को एचडीएफसी बैंक के एग्जीक्यूटि...
ओसवाल सभा महिला प्रकोष्ठ द्वारा योग दिवस का सफल आयोजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *