बीजेएस का राष्ट्रीय अधिवेशन कल से

100 जिलों की झांकियों पर आधारित विशाल वाटर रैली निकलेगी
उदयपुर।
 झीलों की नगरी उदयपुर में 17-18 दिसंबर को आयोजित हो रहे भारतीय जैन संघटना के राष्ट्रीय अधिवेशन की तैयारियोंं पूरी हो चुकी है। बीजेएस प्रदेशाध्यक्ष राजकुमार फत्तावत ने बताया कि अधिवेशन में भारत के 100 जिलों में जल संवर्धन का एमओयू, मूल्यवर्धन शिक्षा का स्केल तैयार करना तथा सामाजिक क्षेत्र के ज्वलंत मुद्दों पर चिंतन-मंथन होगा।
फत्तावत ने बताया कि कार्यक्रम में भारत सरकार के सडक़ एवं परिवहन मंत्री नितिन गडक़री, जलशक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राजमंत्री कपिल पाटील, गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस, विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, डॉ. अभय फिरोदिया चेयरमेन फोर्स मोटर्स, वल्लभ भंसाली प्रबधंन निदेशक ईनाम सिक्योरिटी, अरूण जैन सीएमडी इंटलेक्ट डिजाईन अरहना लिमिटेड, प्रदीप राठौड़ सेलोवल्र्ड गु्रप मुम्बई, डॉ. चेनराज जैन चांसलर जैन युनिवर्सिटी बैंगलोर, विजय दरड़ा चेयरमैन लोकमत मीडिया, अभय श्रीश्रीमाल अध्यक्ष जीतो एपेक्स, अविनाश मिश्रा सलाहकार नीति आयोग, डॉ. अख्तर बादशाह वाशिंगटन विश्वविद्यालय सहित देशभर के 100 से अधिक उद्योगपति, शिक्षाविद् एवं ब्यूरोकैट्स एवं जनप्रतिनिधि हिस्सा बनेंगे।
प्रदेश महामंत्री अभिषेक संचेती ने बताया कि 17 दिसम्बर को प्रात: 9 बजे उद्घाटन सत्र के बाद जलसंवर्धन, मूल्यवर्धन शिक्षा के सत्र, शाम को विशाल वाटर रैली तथा रात्रि में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं अवार्ड सेरेमनी आयोजित होगी। अधिवेशन का मुख्य आकर्षण 17 दिसम्बर को सायं 4.30 बजे ओकेजन गार्डन से डीपीएस स्कूल मैदान तक निकलने वाली विशाल वाटर रैली है। इसमें युथ ब्रिगेड के 51 युवा साथी आगे बुलेट मोटरसाईकिल पर रैली को एस्कोर्ट करेंगे, उसके पीछे पांच घोड़े, दो बग्गियां जिनमें अधिवेशन का लोगो एवं जैन प्रतीक चिन्ह होगा। उनके पीछे छत्तीसगढ़ के 15 जिलों, गुजरात के 3 जिलों, जम्मू कश्मीर के 2 जिलों, कनार्टक के 15 जिलों, महाराष्ट्र के 27 जिलों, मध्यप्रदेश के 6 जिलों, उड़ीसा, पंजाब तथा पाण्डिचेरी के 1-1 जिले, राजस्थान के 14 जिलों, तमिलनाडू के 13 जिलों तथा उत्तरप्रदेश के 2 जिलों की 100 झांकियां अलग-अलग चारपहिया वाहनों पर संचालित होगी।
अधिवेशन के मुख्य संयोजक महेन्द्र तलेसरा ने बताया कि अधिवेशन स्थल 100 फीट रोड स्थित ओकेजन गार्डन में 40 हजार स्क्वायर फीट का विशाल डोम बनाया गया है जिसमें 3200 प्रतिनिधियों के बैठनें की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा 50 हजार स्क्वायर फीट का भोजन पाण्डाल तैयार किया गया है। बाहर से आने वाले प्रतिनिधियों के लिए आसपास के दो किलोमीटर के क्षेत्र की होटलों में 900 कमरें आरक्षित किए गए है। सभी प्रतिनिधियों को एयरपोर्ट, रेल्वे स्टेशन तथा बस स्टैण्ड से लाने के लिए विशेष व्यवस्था की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *