कोरोना के पूर्वाद्ध में नारायण सेवा का उल्‍लेखनीय योग

संस्थापक  पद्मश्री कैलाश मानव ने कहा कि सम्पूर्ण मानव जाति पर आये संकट की इस घड़ी में हमें हर गरीब-जरूरतमंद  को मदद पहुँचा कर बचाना ही सबसे बड़ा धर्म और कर्म है।

उदयपुर । नारायण सेवा संस्थान ने कोरोना महामारी के प्रथम चरण के लॉकडाउन में गरीब, मजदूर परिवारों को भोजन और राशन की मदद पहुंचाते हुए, मानव  धर्म को ओर मजबूत किया है।

संस्थान अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि संस्थान ने पिछले 21 दिनों में 45 हजार से ज्यादा भोजन पैकेट और 24500 फेस मास्क का निःशुल्क वितरण किया। विभिन्न गांवों में जाकर 950 मजदूर परिवारों को राशन सामग्री प्रदान किये। दिव्यांग स्वरोजगार सिलाई प्रशिक्षण केंद्र के दिव्यांग प्रशिक्षणार्थी कोरोना उपचार  में लगी मेडिकल टीम के लिये अब तक 60 व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) किट बना चुके हैं। संस्थान के अग्निशमन वाहन ने शहर के 6 वार्डों का सेनेटाइजेशन किया। एम्बुलेंस गर्भवती महिलाओं एवं गरीब रोगीयों को अस्पताल पहुचाने एवं  पुनः उन्हें घर छोड़ने की भी सेवा कर रही है।

Related posts:

वेदांता बडे पैमाने पर पीपीई के उत्पादन में सक्षम
2-year-old undergoes living donor Liver Transplant at CIMS
धरोहर संस्थान और केंद्रीय संस्कृति विश्वविद्यालय के बीच अनुबंध
कोरोना के विरूद्ध लड़ाई सरकार के साथ हर भारतीय की भी -सुब्रत राॅय सहारा
सांई तिरुपति विश्वविद्यालय उमरड़ा उदयपुर को यू.जी.सी. की मान्यता
अब बिना आईडी प्रूफ़ लग सकेगी जैन साधुओं को वैक्सीन
ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी कर लौटाई मसराराम की आवाज
907 नये रोगियों के साथ कोरोना पॉजिटिवों की संख्‍या 47865 पहुंची
यूनाइटेड होटेलिएर्स ऑफ उदयपुर सोसायटी का अवार्ड समारोह सम्पन्न
एचडीएफसी बैंक को सेकेंडरी मार्केट में अस्बा की सुविधा के लिए सेबी की मंजूरी
बिग बाजार उदयपुर लाया दो घंटे में होम डिलीवरी का ऑफर
गांवों में रैगिंग के विरोध में बढ़ा आक्रोश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *