आपसी समन्वय, भाईचारा तथा सहयोग की भावना से मनाएं त्यौहार – जिला कलेक्टर पोसवाल

जिला परिषद सभागार में शांति समिति की बैठक का आयोजन,
जगन्नाथ रथयात्रा व मोहर्रम आयोजन प्रबंधन को लेकर हुआ विचार-विमर्श
उदयपुर।
जगन्नाथ रथयात्रा एवं मोहर्रम के मद्देनजर मंगलवार को जिला परिषद सभागार में जिला कलेक्टर अरविंद कुमार पोसवाल की अध्यक्षता में जिला शांति समिति की बैठक का आयोजन हुआ। बैठक के दौरान आगामी त्योहारों के दौरान जिले में कानून व्यवस्था एवं शांति बनाए रखने हेतु शांति समिति के सदस्यों से विचार-विमर्श हुआ तथा जगन्नाथ रथयात्रा एवं मोहर्रम से जुड़े आयोजकों से सुझाव लेते हुए संबंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए गए।
बैठक को संबोधित करते हुए जिला कलेक्टर पोसवाल ने कहा कि धार्मिक कार्यक्रमों में अनावश्यक शक्ति प्रदर्शन ना हो तथा कोई भी किसी भी प्रकार के हथियारों का प्रदर्शन आदि ना करें। सभी आपसी समन्वय, भाईचारा तथा सहयोग की भावना से त्योहार मनाएं तथा व्यवस्था बनाए रखने में प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि शांति समिति के सदस्यों की जिम्मेदारी है कि वे त्योहारों के दौरान व्यवस्थाएं बनाए रखने में प्रशासन एवं समाज दोनों का सहयोग करें तथा किसी भी प्रकार की समस्या होने पर प्रशासन को सूचित करें।
बैठक में चर्चा करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक योगेश गोयल ने कहा कि समाज के जिम्मेदार नागरिक अपने स्वयं के स्तर से भी शांतिपूर्ण आयोजन हेतु प्रयास करें, माहौल खराब करने वाले शरारती तत्वों के बारे में तत्काल पुलिस को सूचित करें।
बैठक के दौरान रथ यात्रा एवं जुलूस से पूर्व संबंधित रूट का मौका मुआयना कर आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने, मोहर्रम के जुलूस के दौरान ताजियों की ऊंचाई तय मानकों के अनुसार करने, रथयात्रा एवं जुलूस के दौरान जिन स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे नहीं है वहां अस्थाई रूप से तत्काल सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था करने, ड्रोन सर्वे करवाने, आयोजनों के दौरान मेडिकल सुविधा एवं एम्बुलेंस उपयुक्त स्थान पर तैनात करने, पुराने शहर में जर्जर भवनों जिनके गिरने का खतरा है ऐसे भवनों पर आयोजनों के दौरान आमजन इकट्ठा ना हो, इस बात का ध्यान रखने हेतु निर्देश प्रदान किए गए
इसके अलावा रूट के तहत आने वाले मार्गों के बिजली के तारों को चेक करने, आवश्यक स्थानों पर अस्थाई विद्युत व्यवस्था, मोबाइल टॉयलेट एवं प्रतिवर्ष की भांति आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश प्रदान किए गए।
बैठक के दौरान एडीएम सिटी राजीव द्विवेदी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उमेश ओझा समेत पुलिस-प्रशासन के आला अधिकारी एवं शांति समिति के सदस्य, विभिन्न समुदाय-समाज के प्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे।

Related posts:

जिंक ने जीता प्रतिष्ठित 16वां सीआईआई-आईटीसी सस्टेनेबिलिटी अवार्ड
हिंदुस्तान जिंक का दिवाली अभियान “ प्रगति की रोशनी ”
श्रीमती पारीक को ग्‍यारह हज़ार रुपये का सहयोग
Hindustan Zinc Creates Awareness On National Girl Child Day
उदयपुर के लालस करेंगे ओलंपिक हॉकी मैचों की कमेंट्री
ऐतिहासिक उदयपुर सेवा का भी पर्यायः डॉ. वीरेंद्र कुमार 
पांच दिवसीय वर्सेटाइल पर्सनैलिटी डेवलपमेंट कार्यशाला शुरू
काया उमावि ने शुरू किया ‘मेरा गांव मेरी जिम्मेदारी’ अभियान
लैप्रोस्कोपिक सर्जरी पर कार्यशाला आयोजित
दुनिया के लिए इंटरनेट खुशी की सौगात
केनरा बैंक 50 दिव्यांगों को लगवाएगा कृत्रिम हाथ-पैर
भारत ने जीता  एशियाई लैक्रोज़ प्रतियोगिता का रजत पदक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *