जो आदत है वही पर्याप्त है : मुनि संबोधकुमार ‘मेधांश’

उदयपुर। कछुए की लंबी उम्र खतरों का अंदाजा होते ही खुद को समेटने की खूबसूरत आदत के कारण है। मैं इसके बिना नहीं रह सकता, जब यह शब्द हमारी जिंदगी में शामिल हो जाए तो यह तय है कि हम अपनी खुशियों को स्वयं छीन रहे हैं। ये विचार ध्यान साधक शासनश्री मुनि सुरेशकुमार के सहवर्ती मुनि संबोधकुमार ‘मेधांश’ ने अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल द्वारा निर्देशित तेरापंथ महिला मंडल उदयपुर के बैनर तले भिक्षु दर्शन, आदिनाथ नगर में आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये। मुनिश्री ने कहा रोज गिनती करें, हमारे आसपास ऐसी कितनी चीजें हैं जो गैर जरूरी है। छोडऩे की ताकत जुटाए। पकड़ मजबूत होगी तो जीवन बोझिल हो उठेगा। हल्के रहने के लिए जरूरी है कि किसी भी चीज को अपनी कमजोरी ना बनने दें। अगर कोई कमजोरी बनने लगे तो फौरन उसे नशा बनने से पहले ही जड़ से उखाड़ कर फेंक दे। मुनि प्रवर ने कहा कि मन कहता है कि सेहत अच्छी नहीं है तो क्या हुआ खा ही लें। चैतन्य कहता है नहीं यह सही नहीं है। तब हम समर में होते हैं। मन से हार मान लिया तो हम हार जाते हैं। जीवन की जंग में जीत उन्हीं की होती है जो जानते हैं कि अपनेआप को और अपनी भावनाओं को कैसे समेटना हैं।
तेरापंथ महिला मंडल के समूह गान, प्रेरणा गीत से शुरू हुए कार्यक्रम में मंडल की अध्यक्षा श्रीमती सीमा पोरवाल ने सभी का स्वागत किया। आभार मंत्री श्रीमती दीपिका मारू ने जताया। संचालन मंडल उपाध्यक्ष श्रीमती सीमा बाबेल ने किया।

Related posts:

गंभीर बीमारी से परेशान मरीज को मिली राहत
देबारी फायर सेफ्टी की तत्परता से टली बड़ी घटना
‘फ्लोरेंस इन द वर्ल्ड, द वर्ल्ड इन द फ्लोरेंस’ प्रदर्शनी का शुभारंभ
पारस जेके हॉस्पिटल में हेड इंजरी अवेयरनेस के लिए हुआ हेल्थ टॉक और बाइक रैली का आयोजन
कोरोना एक बार फिर शून्य
हिन्दुस्तान जिंक द्वारा आयोजित अंतर्राश्ट्रीय बालिका दिवस कायक्रमों में 1500 बालिकाओं ने लिया भाग
लेग्रांड कम्पनी द्वारा उदयपुर में देश का पहला इलेक्ट्रीशियन जॉब फेयर
नव्या है इंदिरा आईवीएफ की पहली किलकारी
हिन्दुस्तान जिंक की सीएसआर परियोजनाएं सराहनीय, ग्रामीण विकास में महत्वपूर्ण- जसमीतसिंह संधु, जिला कल...
मेवाड़ प्रीमियर लीग : कोनार्क नाइट राइडर्स चैंपियन
जिंक इन्कलुजन व सोशल इम्पेक्ट पर बेस्ट एचआर प्रैक्टिसेज के लिए सीआईआई नेशनल एचआर सर्किल कम्पटिशन 202...
वेदांता के चेयरमैन अनिल अग्रवाल मुंबई रत्न पुरस्कार से सम्मानित

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *