आरएसएमएम पेंशनर्स वेलफेयर सोसायटी की पहली आम सभा संपन्न

सोसायटी की अबतक की गतिविधियों और आगामी योजनाओ पर डाला प्रकाश

श्री झामेश्वर महादेव के जयघोष और स्नेहभोज के साथ पूरा हुआ आयोजन

उदयपुर। आरएसएमएम पेंशनर्स वेलफेयर सोसायटी की पहली आमसभा आयोजित की गई। श्री झामेश्वर महादेव की कृपा एवं आभार मानते हुए शुरू की गई सभा में भारी संख्या में सेवानिवृत्त कर्मचारी शामिल हुए। इस प्रथम आमसभा में सोसायटी के अध्यक्ष एल. सी. जोशी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष दिनेशकुमार माली, महासचिव हेमंत त्रिवेदी, वरिष्ठ सदस्य आर. सी. कुमावत, आर. एन. मौर्या, जोधपुर के सी. एस. शर्मा और एस. सी. माथुर ने अपने विचार रखे साथ ही सोसायटी की अभी तक कि गतिविधियों व आगामी भावी योजनाओ पर प्रकाश डाला।


सोसायटी की गतिविधियां की जानकारी देते हुए महासचिव हेमंत त्रिवेदी ने बताया कि सोसायटी ने आरएसएमएम के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को आरजीएचएस और पेंशन योजनाओं का लाभ दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कैसे सोसायटी ने कई कर्मचारियों को उनकी पेंशन संबंधी समस्याओं का समाधान करने में मदद की है। अध्यक्ष एल. सी. जोशी ने कहा कि सोसायटी का मुख्य उद्देश्य आरएसएमएम के सेवानिवृत्त कर्मचारियों के हितों की रक्षा करना और उन्हें सामाजिक, आर्थिक और स्वास्थ्य संबंधी सहायता प्रदान करना है। सोसायटी आने वाले समय में स्वास्थ्य शिविर, सामाजिक कार्यक्रम और अन्य गतिविधियों का आयोजन करेगी। उपाध्यक्ष्य के सी शर्मा ने ईपीएफओ हायर पेंशन योजना पर जरुरी जानकारी दी एवं कहा कि सोसायटी को हमेशा गैर राजनैतिक रखा जाएगा और साथ ही सामाजिक कार्यो के लिए सरोकार रखते हुए मिलजुल कर सोसायटी को मजबूत बनाना हे। कोषाध्य्क्ष सी. एल. पूर्बिया ने सोसायटी के रजिस्ट्रशन से लेकर बैंक में खाता खुलवाने तक की प्रक्रिया से अवगत कराते हुए बताया कि सोसायटी का रजिस्ट्रेशन तो चुका है, आगामी कुछ ही दिनों में बैंक खाता भी ऑपरेट हो जाएगा।
आर. सी. कुमावत के प्रस्ताव पर उपस्थित सदस्यों ने एक स्वर में कहा कि निश्चित रूप से सोसायटी के कार्यकारणी सदस्यों ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए दोनों योजनाएं लागू करने के लिए दिन-रात हर संभव प्रयास किए हैं। अत: पूरी कार्यकारणी के सदस्यों का सम्मान करना उचित होगा। इस दौरान उपस्थित वरिष्ठ सदस्यों के हाथों कार्यकारणी के सदस्यों का पगड़ी और उपरना पहनाकर सम्मानित किया गया। सेवानिवृत्त कर्मचारियों ने सोसायटी के प्रयासों की सराहना की और आशा व्यक्त की कि यह उनके हितों की रक्षा करने के लिए आगे भी काम करती रहेगी। अंत में सभी सदस्यों ने सोसायटी के उपाध्यक्ष देवनारायण धाबाई द्वारा निशुल्क उनकी वाटिका उपलब्ध कराने पर आभार व्यक्त किया। झामेश्वर महादेव के जयघोष और स्नेहभोज के साथ सभा सम्पन्न हुई।

Related posts:

उद्यानिकी के महत्व एवं उपयोगिता की दी जानकारी
मेवाड़ में वाचिक साहित्य की परम्परा बहुत समृद्ध
आचार्यश्री जगच्चंद्र सूरिश्वरजी आराधना भवन का भूमि पूजन एवं शिलान्यास
Hindustan Zinc Secures Top 1% Ranking in S&P Global Sustainability Yearbook 2024
Ather Energy strengthens its presence in Rajasthan, opens its first retail outlet  in Udaipur
महिलाएं, युवा व दिव्यांगजन संभालेंगे मतदान की कमान
वीआईएफटी में मुंशी प्रेमचंद के नाटक ‘बड़े भाई साहब’ के मंचन से क्रिएटिव वीक सम्पन्न
Hindustan Zinc Publishes 1st Environmental Product Declaration (EPD) for Zinc Products
रेंज रोवर ने भारत में पेश की नई रेंज रोवर इवोक
Sterling Holiday Resorts Unveils Sterling Pushkar, Its Fourth Resort in Rajasthan 
भागवत कथा मात्र ग्रंथ नहीं, साक्षात प्रभु का विग्रह रूप : संजय शास्त्री
Hindustan Zinc Ranks amongst the Top 5% in the S&P Global Sustainability Yearbook 2023

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *