कृषि फार्म पौंड से सालाना लाखों की आय

एक ही पौंड से ले सकते हैं दस तरह के फायदे
उदयपुर।
आप कृषक हैंऔर आपके पास एक से दो एकड़ जमीन है और उसमें वर्षा के पानी को स्टोरेज करने के लिए अगर फार्म पौंड बना रखा है तो अकेले पौंड वाले भू-भाग पर एक नहीं पूरे दस तरह के फायदे लिये जा सकते हैं। इससे लाखों रुपए की आमदनी की जा सकती है। वरिष्ठ पत्रकार विमलेश शर्मा ने बताया कि माना कि आपके पास दो एकड़ का कृषि फार्म है। उसमें सबसे पहले फार्म पौंड बनाना पड़ेगा। पौंड पर सरकार से नब्बे हजार से 20 लाख रुपए तक यानी 75 प्रतिशत सब्सिडी मिलती है। उदाहरण के तौर पर एक बीधा में फार्म पौंड बनवाना है तो उस पर करीब साढ़े छह लाख रुपए के आसपास का खर्चा बैठता है। इस पर सरकार से पांच लाख रुपए की सब्सिडी मिल जाएगी। अगर खुद का ट्रेक्टर व खुदाई के संयत्र आदि हैं तो बाकी का खर्चा बचाया जा सकता है और पौंड सरकार से मिली सब्सिडी में ही बनकर तैयार हो जाएगा।
पौंड में एकत्र वर्षा जल खेत की सिंचाई में तो काम आएगा ही उसके साथ इसमें मछली व बतक पालन भी किया जा सकता है। मछली का बीज सरकार की तरफ से मत्स्य पालकों को बहुत से प्रदेशों में फ्री में भी दिया जाता है। इस पौंड पर जालीदार घर बनाकर मुर्गी पालन किया जा सकता है और इस घर के ऊपर छाया के लिए सोलर प्लांट लगा सकते हैं। इस पौंड के पास अगर दो छोटे पौंड और बना ले तो एक में कमल और एक में सिंघाड़े की खेती की जा सकती है। इन्हीं छोटे पौंडों में सिप डाल मोती की खेती की भी जा सकती है। बतख, मुर्गे की बिंठ मछली के भोजन के रूप में काम आती है। मछली से प्राप्त बेस्ट से ऐसी खाद बन जाती है जो खेती में सबसे उपयुक्त है।
जयपुर से अजमेर राष्ट्रीय मार्ग पर बीचून के पास भैराणा गांव में राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किसान सुरेन्द्र अवाना अपने शिवम डेयरी व कृषि अनुसंधान केन्द्र पर कुछ ऐसे ही नवाचार कर रहे हैं। वर्तमान में वे फार्म पौंड से पांच तरह के फायदे ले रहे हैं और आने वाले छह महीनों में वे दस तरह के लाभ लेने लग जाएंगे। श्वेत व हरित क्रांति के साथ राजस्थान में नीली क्रांति (मछली पालन) लाने में जुटे अवाना के अनुसार पौंड पर ये नवाचार कर 10 से 15 लाख रुपए सालाना की आसानी से कमाई की जा सकती है। दस तरह के नवाचार से तो आमदनी को 50 लाख रुपए सालाना किया जा सकता है।

Related posts:

JK TYRE ACHIEVES YET ANOTHER MILESTONE
फसल उत्पादकता एवं मिट्टी के स्वास्थ्य पर जिंक के प्रभावों के अध्ययन के लिए इंटरनेशनल जि़ंक एसोसिएशन ...
एनपीसीआई ने सुरक्षित भुगतान के लिए यूपीआई चलेगा अभियान द्वारा इंडियापेसेफ की शुरुआत की
NPCI initiates #IndiaPaySafe through on-going ‘UPI Chalega’ campaign to promote paying safe
छात्रों ने बनाया ऑल-टेरेन व्हीकल (एटीवी)
InsuranceDekho Plans To Onboard One Lakh Agents Throughout The Country
एचडीएफसी बैंक किसानों तक पहुंचने के लिए भारत सरकार के ई-एनएएम के साथ एकीकृत
2-year-old undergoes living donor Liver Transplant at CIMS
संध्या रासकतला बनी अप्रतिबंधित श्रेणी में भारत की पहली महिला खान प्रबंधक
सीम्स अस्पताल मे एक आटो-चालक पिता के दो वर्षीय बच्चे का लिवर प्रत्यारोपण
सर पदमपत सिंघानिया विश्वविद्यालय के साथ बी.टेक छात्रों को सशक्त करेगी ज़ेबिया अकादमी
राजस्थान विद्यापीठ - 85 वां स्थापना दिवस हर्षोल्लास से मनाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *