प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गिरनार रोपवे का उद्घाटन किया

यह परियोजना रोजगार के नए अवसर का सृजन करेगी – नरेंद्र मोदी

उदयपुर, 24 अक्टूबर। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जूनागढ़ में गिरनार रोपवे परियोजना का उद्घाटन किया। इस रोपवे से सौराष्ट्र में पर्यटन और संबंधित क्षेत्रों में विकास को गति मिलेगी।
2.3 किमी का गिरनार रोपवे दुनिया में मंदिर के लिए सबसे लंबा रोपवे है जिसे यात्री रोपवे के अग्रणी उषा ब्रेको लिमिटेड द्वारा 130 करोड़ के निवेश के साथ विकसित किया गया है। प्रधानमंत्री ने नई दिल्ली से रोपवे का उद्घाटन किया। इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपानी, उपमुख्यमंत्री श्री नितिन पटेल, वरिष्ठ मंत्री, और उषा ब्रेको के अध्यक्ष प्रशांत झवर गिरनार में उपस्थित थे।
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि यह विश्वस्तरीय रोपवे लोगों के लिए गिरनार की यात्रा को सुविधाजनक बनाएगा। पहले गिरनार पर चढऩे में 5-7 घंटे लगते थे लेकिन अब रोपवे की सहायता से केवल 7-8 मिनट ही लगेंगे। इससे ज्यादा संख्या में भक्त और पर्यटक गिरनार की यात्रा कर सकेंगे। यह साहसिक गतिविधियों को बढ़ावा देगा। मुझे इस बात की भी खुशी है कि यह परियोजना स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार के अधिक अवसर उत्पन्न करेगी।
इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपानी ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अष्टमी के शुभ अवसर पर रोपवे का उद्घाटन किया है। वरिष्ठ नागरिक, बच्चे, महिलाएं और अन्य जो पहले गिरनार जाने में सक्षम नहीं थे, वे विश्वस्तरीय रोपवे के माध्यम से वहां जा सकेंगे। वर्षों से गिरनार के मंदिरों में लाखों लोगों को ले जाने वाले डोलीवालों को मैं आभार व्यक्त करता हुं।
इस विकासकार्य पर टिप्पणी करते हुए उषा ब्रेको के प्रबंध निदेशक अपूर्व झवर ने कहा कि गिरनार रोपवे का उद्घाटन हम सभी के लिए गौरव का क्षण है। रोपवे की मदद से गिरनार पर मंदिरों तक पहुंचने के लिए समय की बचत होगी। यह लाखों भक्तों के लिए गिरनार की यात्रा को सुविधाजनक बना देगा और सौराष्ट्र में पर्यटन क्षेत्र को प्रोत्साहन भी देगा। इसके बाद मुख्यमंत्री विजय रूपानी और अन्य अग्रणियों ने रोपवे में यात्रा की और गिरनार के अम्बाजी मंदिर में प्रार्थना की।
गिरनार रोपवे देश के सबसे आधुनिक यात्री रोपवे में से एक है और इसमें नौ टॉवर शामिल हैं। इसमें कांच के फर्श वाले केबिन सहित 25 केबिन में एक समय में आठ यात्रियों को ले जाने की क्षमता है। गिरनार रोपवे एक घंटे में 800 और एक दिन में 8,000 लोगों की फेरी लगा सकेगी। उषा ब्रेको देश में यात्री रोपवे की अग्रणी है। यह हरिद्वार में मां चंडी देवी, गुजरात में पावागढ़ और अंबाजी, केरल में जटायुपुरा और मालमपुझा और ओडिशा में मां तारा तारिणी में रोपवे संचालित करता है। ये रोपवे सालाना 80 लाख से अधिक लोगों को वहन करते हैं।

Related posts:

धरोहर संस्थान और केंद्रीय संस्कृति विश्वविद्यालय के बीच अनुबंध
पूंजीपतियों की पक्षधर मोदी सरकार के खिलाफ जारी रहेगा संघर्ष : डॉ. रेड्डी
2-year-old undergoes living donor Liver Transplant at CIMS
नमन अग्रवाल ने की असहाय मजदूरों के लिए भोजन सेवा
राशन कीट वितरण एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम
HDFC Bank net profit up by 18%
पेप्सी् ने वैलटाइन डे के मौके पर जारी की नई डिजटल फिल्म
उदयपुर के प्रतिभाशाली छात्र लक्ष्‍यराज कालरा ने तैयार की करोना पर विशेष ई-बुक
प्रौद्योगिकी 'सबका साथ सबका विकास' अर्जित करने का सेतु है: प्रधानमंत्री
शेफ दयाशंकर शर्मा ने लंदन में रेस्टोरेंट हेरिटेज के साथ लॉन्च किया डिलीवरी और होम डाइनिंग अनुभव
अब बिना आईडी प्रूफ़ लग सकेगी जैन साधुओं को वैक्सीन
ऊबर ने लाखों पीपीई किट्स वितरित किये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *