उदयपुर में कोरोना वेक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू

कलक्टर देवड़ा ने पहला टीका लगवाकर की हौंसला अफज़ाई
उदयपुर/
जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरूआत राजस्व अधिकारियों के टीकाकरण के साथ हुई। इसमें सबसे पहला टीका आरएनटी में जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने लगवाया और इस चरण में टीका लगवाने वाले फ्रंटलाइन वर्कर्स सहित आम लोगों की हौंसला अफज़ाई की।  
कलक्टर देवड़ा के बाद अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ओ.पी. बुनकर, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर), अशोक कुमार, एसडीएम गिर्वा डॉ. सौम्या झा एवं डीएसओ ज्योति ककवानी ने टीका लगवाया और अन्य कार्मिकों को प्रोत्साहित करते हुए टीकाकरण के इस चरण को आगे बढ़ाया। इसके साथ ही राजस्व विभाग से जुड़े विभिन्न अधिकारियों-कार्मिकों ने टीकाकरण में सक्रिय भागीदारी निभाई।
 शुरुआत में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी ने जिला कलक्टर का तिलक लगा माला पहनाकर स्वागत किया। टीकाकरण के बाद कलक्टर ने कहा कि मुझे बड़ी खुशी है कि द्वितीय चरण के इस कार्यक्रम में प्रथम टीका मुझे लगाया गया है। इसके साथ ही उन्होंने सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स एवं जनता को यह भरोसा दिलाया कि टीका पूर्णतया सुरक्षित है ताकि वे भी उनकी बारी आने पर आगे आकर निस्संकोच टीका लगवाएं।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से बचाव का अस्त्र टीकाकरण ही है, कोई भी फ्रंटलाइन वर्कर टीकाकरण करवाने से घबराए नहीं। इस दौरान आरएनटी मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. लाखन पोसवाल, आरसीएचओ उदयपुर डॉ. अंकित जैन, डब्ल्यूएचओ से डॉ. अक्षय व्यास, एमबी अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरएल सुमन सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।
फोटो खिंचवाकर कलक्टर बोले -आईएम प्रोटेक्टेड:
वेक्सीनेशन के बाद कलक्टर देवड़ा ने आरएनटी मेडिकल कॉलेज में स्थापित किए गए फोटो र्प्वाइंट पर विक्ट्री सिंबोल के साथ फोटो खिंचवाया और बोले – आईएम प्रोटेक्टेड। इसके बाद अन्य समस्त राजस्व कार्मिकों ने भी यहां फोटो खिंचवाकर अन्य कार्मिकों की हौंसलाअफज़ाई की।

Related posts:

रोटरी क्लब मीरा ने स्वतंत्रता दिवस मनाया
जिंक वर्क इंटीग्रेटेड लर्निंग प्रोग्राम के तहत् 118 अधिकारियों को उच्च शिक्षा का अवसर
शिविर में 32 यूनिट रक्तदान
पारस जेके हॉस्पिटल में हेड इंजरी अवेयरनेस के लिए हुआ हेल्थ टॉक और बाइक रैली का आयोजन
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर पोस्टर मेकिंग, रंगोली प्रतियोगिता आयोजित
रोटरी क्लब मीरा की सदस्याओं ने की महिला बंदियों से मुलाकात
प्रकृति ही जीवन की पोषक : कैलाश मानव
कमल नाहटा जीतो उदयपुर चेप्टर के मुख्य सचिव बने
डॉ. तुक्तक भानावत जार के पुन: जिलाध्यक्ष बने
ह्रदय की गंभीर बीमारी से मिली राहत
शिक्षाविद् डॉ. ओंकारसिंह राठौड़ का निधन
बिना अवकाश के सुविवि में चल रहे नि:शुल्क योग अभ्यास शिविर के 1000 दिन पूरे हुए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *