राष्ट्रीय दृष्टिहीन क्रिकेट चैम्पियनशिप-2019 का आगाज़

 पूर्व गृहमंत्री कटारिया ने किया उद्घाटन    

उदयपुर, 30 नवम्बर । राज्य के पूर्व गृहमंत्री एवं वर्तमान शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि कर्म क्षेत्र की विभिन्न विधाओं में आज दिव्यांग भी मुख्य धारा से जुड़ते हुए अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैे। वे शारीरिक कमी को अपने आत्मविश्वास से पराजित कर निरन्तर आगे बढ़ रहे हैै। वे शनिवार को महाराणा भूपाल काॅलेज मैदान पर नारायण सेवा संस्थान के तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय दृष्टिहीन क्रिकेट चैम्पियनशिप-2019 का उद्घाटन कर रह थे। क्रिकेट एसोसिएशन फाॅर द ब्लाइंड इन इण्डिया एवं राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन आफ द ब्लाइंड के सहयोग से चल रही चार दिवसीय प्रतियोगिता में राजस्थान मध्यप्रदेश, केरल , गोवा, पं.बंगाल और गुजरात की टीमें भाग ले रही है। उद्घाटन मैंच राजस्थान और पश्चिम बंगाल के बीच खेला गया जबकि दूसरा मैच गुजरात व मध्यप्रदेश के बीच हुआ।       कटारिया ने मेवाड़ और महाराणा प्रताप को खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बताते हुए शहरवासियों की ओर से उनका अभिन्नदन किया। उन्होंने नारायण सेवा संस्थान का दिव्यांगांे की चिकित्सा, पुनर्वास, प्रशिक्षण एवं खेल क्षेत्र में प्रतिभाओं को तराशने के प्रयासों की प्रशंसा की।        उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए उदयपुर ग्रामीण विधायक फूल सिंह मीणा ने कहा कि सफलता की पहली शर्त समर्पण है। जहां समर्पण है, वहां कोई भी शारीरिक अक्षमता ठहर नहीं सकती। खिलाड़ी दृष्टिहीन भले ही कहलाएं किन्तु इनकी अन्तदृष्टि विचक्षण है। यही वजह है कि यह आज हम सबके बीच मैदान में है। विशिष्ट अतिथि मावली विधायक धर्मनारायण जोशी ने कहा कि एकलव्य ने अंगूठा काटकर गुरू दक्षिणा में देने के बाद भी तीरन्दाजी में जो कौशल प्रदर्शित किया, उसके मूल में उसकी एकाग्रता थी। सफलता के लिए एकाग्रता जरूरी है।  पूर्व राष्ट्रीय  क्रिकेट अम्पायर प्रो. रघुवीर सिंह राठौड़, राष्ट्रीय पैरा स्वीमिंग संघ के चैयरमेन वी.के. दबास ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर राजकीय दृष्टिहीन  उच्च मां. विद्यालय की प्रिन्सिपल डाॅ. आभा शर्मा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक मानधाता सिंह, जिला खेल  संघ के तैराकी प्रशिक्षक महेश पालीवाल, पैरा  जेवेलियन थ्रो के राष्ट्रीय खिलाड़ी अजित सिंह, सुखाड़िया विश्वविद्यालय स्पोर्ट्स क्लब के डाॅ. भीमराज पटेल, संस्थान की सह-सस्थापिका कमलादेवी अग्रवाल, निदेशक वंदना अग्रवाल, मुख्य-कार्यकारी गौरव शर्मा भी उपस्थित थे।       आरम्भ में अतिथियों व टीमों का स्वागत करते हुए नारायण सेवा सस्ंथान के संस्थापक-चैयरमैंन पद्मश्री ’कैलाश मानव’ ने 2017 में राष्ट्रीय पैरा स्वीमिंग चैम्पियनशिप के सफल आयोजन का उल्लेख किया। दिव्यांग बैण्डवादकों की धुन पर कदमताल करते हुए  खिलाड़ियों ने मार्चपास्ट कर मंच को सलामी दी। संस्थान अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने चार दिवसीय इस राष्ट्रीय दृष्टिहीन क्रिकेट कुंभ की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि संस्थान दिव्यांग खेल प्रतिभाओं के विकास के लिए सभी सुविधाआंे से युक्त खेल अकेडमी का विकास कर रहा है। उन्होंने बताया कि इस आयोजन में खिलाड़ियों, प्रशिक्षकों, संघों के पदाधिकारियों व अम्पायरों सहित करीब 200 लोग सहभागिता कर रहे है। चैम्पियनशिप के दूसरे दिन रविवार को संस्थान द्वारा विकसित डबोक-एयरपोर्ट रोड स्थित भूमिमाता पर नारायण स्पोटर्स एकेडमी में दो मैच होंगे, जो राजस्थान व गोवा तथा केरल व मध्य प्रदेश के बीच खेले जाएंगे। कार्यक्रम का संचालन ओमपाल सिलन व विकास निगम ने किया।

Related posts:

कोटक सिक्योरिटीज ने लॉन्च किया ट्रेड फ्री प्रो प्लान
सुरक्षा शपथ के साथ हिन्दुस्तान जिंक में 49वें राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह का समापन
नारायण चिल्ड्रन एकेडमी को स्कूल बस भेंट
एचडीएफसी बैंक और फ्लिपकार्ट होलसेल ने किराना सदस्यों और छोटे व्यापारियों के लिए  पहला को-ब्रांडेड क्...
स्वस्थ, स्वच्छ और पोषित समाज के लिए राजीविका की भूमिका महत्वपूर्ण
थोक जमा सीमा बढ़ाने से बैंक अधिक खुदरा जमायें प्राप्त कर सकेंगे : बरूआ
LG LAUNCHES BEST SHOP IN UDAIPUR TO INTRODUCE ITS CUSTOMERS TO A NEW LEVEL OF BRAND EXPERINCE
Hindustan Zinc partners with GreenLine for the deployment of LNG-Powered trucks for logistics
युवाशक्ति महाराणा सांगा से प्रेरणा लेकर आत्महत्या जैसे कदम उठाने बच सकती है : लक्ष्यराजसिंह मेवाड़
‘माय एफएम देखता है’ में वीआईएफटी की सक्रिय भागीदारी
जिंक के ‘जीवन तरंग जिंक के संग‘ कार्यक्रम से अब तक 800 से अधिक लाभान्वित
फील्ड क्लब क्रिकेट कार्निवल 2024 शानदार आगाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *